जानें क्यों होता है स्वपनदोष, क्या हैं इसे रोकने के उपाय और इसका आर्युवेदिक इलाज - HEALTH IS WEALTH
जानें क्यों होता है स्वपनदोष, क्या हैं इसे रोकने के उपाय और इसका आर्युवेदिक इलाज

जानें क्यों होता है स्वपनदोष, क्या हैं इसे रोकने के उपाय और इसका आर्युवेदिक इलाज

युवाओं में स्वप्न दोष होना एक आम समस्या है। बता दें कि यह समस्या हर उम्र के पुरूषों में होती हैं। और यह एक स्वाभाविक दैहिक क्रिया है जो पुरूषों में सोते वक्त होती है। स्वपन दोष जिसे कई लोग नाइट फॉल के नाम से भी जानते हैं। बता दें कि हालांकि इसका होना स्वाभाविक हैं लेकिन यदि यह समस्या आपको महीने में 1 से 2 से ज्यादा बार होती है तो व्यक्ति को शारीरिक कमजोरी का एहसास होने लगता है। बता दें कि यदि आपको भी इस तरह की समस्या है तो आपको चिकित्सक से परामर्श अवश्य लेना चाहिए।

बता दें कि वैसे तो यह समस्या पुरूषों में सामान्य होती है। हालांकि, अगर आपको यह नियमित रूप से होती है तो यह आपके लिए परेशानी का सबब बन सकती हैं। यदि आपको स्वप्न दोष जैसी समस्या का सामना काफी लंबे समय से करना पड़ रहा है तो इसका असर आपकी सेहत पर तो पड़ता ही है साथ ही यह मानसिक रूप से भी आप पर काफी दबाव बढ़ा देता है। कई लोगों के मन में इस तरह के सवाल आते हैं कि आखिर वो स्वप्न दोष जैसी समस्या से कैसे बच सकते हैं। और ऐसा हमेशा होने के पीछे की वजह क्या है।

बता दें कि विशेषज्ञ भी स्‍वप्‍न दोष के कारणों को लेकर आश्‍वस्‍त नहीं हैं। हालांकि,  इसके पीछे की वजह हस्‍तमैथुन और कामुक विचारों का होना माना जाता है।  जहां कई लोगों को इस परेशानी से बचने के लिए हस्‍तमैथुन कम करने की सलाह दी जाती है। वहीं इस समस्या के इलाज के लिए कुछ घरेलू उपाय भी होते हैं। जिनके द्वारा इस तरह की समस्या को नियंत्रित करने का दावा किया जाता है। बता दें कि स्वप्न दोष का इलाज करने के लिए अंग्रेजी और आर्युवेदिक दोनों ही तरह की दवाएं बाजार में मिलती हैं। जिनके उपयोग से कहा जाता है कि ऐसा करने से इस तरह की समस्‍या को नियंत्रित किया जा सकता है। लेकिन इस तरह की समस्या में आर्युवेदिक दवा को ही बेहतर माना जाता है क्योंकि इसका शरीर पर कोई बुरा असर नहीं होता है।

बता दें कि वैसे ऐसा होने के पीछे की असल वजह किसी को नहीं पता है लेेकिन अधिकतर जानकार इसके पीछे अधिक कामुक विचारों को ही इस समस्या का जिम्‍मेदार मानते हैं।

स्‍वप्‍न दोष से कैसे बचें

जानकारों की मानें तो इस समस्या के पीछे की सबसे बड़ी वजह होती है कामुख विचार, कहा जाता है कि यदि आप रात को सोने से पहले हस्तमैथुन करते हैं तो स्वप्न दोष जैसी समस्या से बचा जा सकता है। हालांकि सभी विशेषज्ञ इस बात से सहमत नहीं होते हैं।

1. वहीं माना जाता है कि यदि आप रोजाना व्‍यायाम करते हैं और शारीरिक ऊर्जा का सही से इस्तेमाल करते हैं तो आप इस तरह की समस्या से बच सकते हैं।

2. इसके साथ ही विशेषज्ञों के अनुसार अपने आहार में संतुलित भोजन करना चाहिए । साथ ही विटामिन बी से भरपूर आहार लेना चाहिए।

3. साथ ही आपको अपने सोने और उठने का समय भी निर्धारित कर लेना चाहिए।

4. इसके साथ ही दिमाग में फालतू के ख्याल ना लाकर मन को शांत रखना चाहिए। किताबें पढ़नी चाहिए और संगीत सुनकर या फिर दोस्तों के साथ खुद को व्यस्त रखना चाहिए।

स्वप्नदोष रोकने के उपाय

बता दें कि इसी के साथ आपको कुछ ऐसी चीजों का सेवन करना चाहिए जिससे आप इस समस्या से बच पाएं। तो चलिए आपको बतातें हैं कि इस तरह की समस्या से निपटने के लिए आपको किन चीजों का सेवन करना चाहिए।

1. आंवला के सेवन को वैसे भी सेहत के लिए बेहतर माना जाता है। ऐसे में आपको करना ये है कि नियमित रूप से रोजाना आंवले के मुरब्बे के सेवन करें और साथ ही गाजर का रस पिएं।

2. इसके साथ ही तुलसी की जड़ के टुकड़े को पीसकर पानी के साथ इसका सेवन करें।

3. यदि तुलसी के पेड़ की जड़ें नहीं मिल रही हैं तो तुलसी के बीजों का सेवन करें।

4. रात को सोने से पहले काली तुलसी के 10-12 पत्ते पानी के साथ पिए।

5. इसके अलाना लहसुन का सेवन भी इसमें काफी उपयोगी माना जाता है। कहा जाता है कि नियमित रूप से लहसुन की दो कली कुचल कर निगल जाएं। और उसके बाद में गाजर के रस का सेवन करें।

6. आधा चम्मच मुलहठी के चूरन को आक की छाल के चूरन के साथ मिलाकर एक चम्मच दूध के साथ लें।

7. रात को एक लीटर पानी में त्रिफला चूरन भिगोकर रख दें और सुबह महीन कपड़े से छानकर इसको पिएं।

8. इसके अलावा आप अदरक रस 2 चम्मच, प्याज रस 3 चम्मच, शहद 2 चम्मच, गाय का घी 2 चम्मच इन सबको मिलाकर सेवन करने से स्वप्न दोष तो ठीक होगा ही साथ ही मर्दाना ताकत भी बढ़ती है।

स्वप्नदोष की अंग्रेजी दवा

बता दें वैसे तो बाजार में इस समस्या से बचने के लिए बाजार में कई तरह की दवाइयां मिल जाएंगी लेकिन आपको इन दवाओं का सेवन बिना डॉक्टर की सलाह के नहीं करना चाहिए। बेहतर होगा कि आप डॉक्टर की सलाह के बाद ही स्वप्नदोष की अंग्रेजी दवा का सेवन करें।

स्वप्नदोष का आयुर्वेदिक इलाज

बता दें कि आर्युवेदिक दवाओं को लोग ज्यादा महत्ता देते हैं, क्योंकि इसके सेवन से किसी प्रकार के साइडइफेक्ट नहीं होते हैं। इसलिए ज्यादा तर लोग आर्युवेदिक दवा का सेवन करने की बात करते हैं। तो चलिए आपको बता दें स्वप्नदोष का आयुर्वेदिक इलाज कैसे करें-

1. पालक के पत्ते को लगभग 250 ग्राम पानी से अच्छे से धोने के बाद सिल पर बिना पानी के पीस लें।  फिर एक मोटे और साफ धुले कपड़े में इस पिसी हुई पालक को डालकर उसका रस निकाल लें। और सुबह खाली पेट इस रस का सेवन करें। और ध्यान दें कि इसके सेवन के बाद आधा घंटे तक कुछ खाएं-पिएं नहीं। ऐसा कहा गया है कि इसका सेवन 6-7 दिन तक रोजाना करने के बाद  स्वप्न दोष होना बंद हो जाता है। बता दें कि  यह एक आयुर्वेदिक और आजमाया हुआ नुस्खा है।

2. नीम की पत्तियां वैसे भी कई बीमारियों से लड़ने में सक्षम होती हैं। बता दें कि नीम के गिलोय का अंगुलभर आकार के तीन टुकड़े लें और फिर उसे तीन काली मिर्च के साथ मिलाकर खूब बारीक पीस लें। और सुबह खाली पेट पानी के साथ इसका सेवन करें। इसके सेवन से स्वप्न दोष जैसी समस्या का समाधान होता है और जब आपकी समस्या ठीक हो जाए तो इसका सेवन बंद कर दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *