बहुत ही महत्वपूर्ण होते हैं फलों पर लगे Stickers, भूल से भी नहीं खरीदिएगा ऐसे स्टीकर वाले फल - HEALTH IS WEALTH
बहुत ही महत्वपूर्ण होते हैं फलों पर लगे Stickers, भूल से भी नहीं खरीदिएगा ऐसे स्टीकर वाले फल

बहुत ही महत्वपूर्ण होते हैं फलों पर लगे Stickers, भूल से भी नहीं खरीदिएगा ऐसे स्टीकर वाले फल

फल, सब्जी आदि तो हर कोई खरीदने जाता ही होगा और कई कई बार आपको कुछ इस तरह के खास फल और सब्जियाँ भी दिख जाती होंगी जो सामान्य से थोड़ी अलग और हटकर लगती होंगी। अगर आप ध्यान देते होंगे तो आपको तो आपको याद होगा की कई फल आदि ऐसे भी होते हैं जिनके ऊपर किसी तरह का स्टिकर लगा होता है। आखिर क्या होता है इन स्टीकेर्स का मतलब और आखिर क्यों लगे होते हैं ये फलों पर। आप खुद भी कई बार इसके बारे में सोचे होंगे मगर शायद आपको जवाब मिल नहीं पाया होगा या फिर अगर मिला भी होगा तो आधा अधूरा सा ही, मगर आपके मन में ये सवाल बैठा ही होगा की आखिर फलों पर स्टिकर लगाने का क्या मतलब होता है। तो चलिये आज हम आपकी इस दुविधा को दूर कर देते है और आपको बताते हैं की फलों पर लगे Stickers का आखिर क्या होता है मतलब।

असल मैनापकी जानकारी के लिए बता दें की आमतौर पर फलों पर लगाए जाने वाले ये स्टीकर फलों की गुणवत्ता को दर्शाते हैं साथ ही साथ ये भी बताते हैं की ये आपकी सेहत के लिए कितने फायदेमंद है और कितने नुकसानदायक। जी हाँ, शायद आपको ये जानकार यकीन नहीं होगा की फलों पर चिपकाए गए इन स्टीकर से आप उसकी कीमत, एक्सपायरी डेट और इसके अलावा पीएलयू कोड भी की भी जानकारी ले सकते है। पीएलयू कोड में एक विशेष अंक से शुरू संख्या होती है जिससे आप जान सकते है कि जो फल आप खरीद रहे है उसे पारंपरिक तरीके से उगाया गया है या नहीं। आपको बताते है क्या बाला है ये पीएलयू कोड और कैसे आप इसके जरिये फल की गुणवत्ता और उसके बारे में बाकी की जानकारी ले सकते हैं।

क्या है फलों पर लगे Stickers का मतलब

सबसे पहले तो आपको बता दें की यदि किसी भी फल में लगे स्टिकर में जो कोड दिया गया है वह 9 अंक से शुरू होता है और यह संख्या पांच अंको की है (जैसे 90412) तो आप समझ लीजिये की यह फल जैविक तरीके से उगाया गया है ये फल आपकी सेहत के लिए फायदेमंद रहेगा।

इसके अलावा आपकी जानकारी के लिए बताते चलें की यदि किसी फल में लगे लेबल पर दिये गए कोड का अंक 8 से शुरू होता है और यह संख्या भी पांच अंको की है (जैसे 80412) तो समझ लीजिये की इस फल में अनुवांशिक संशोधन किया गया है, मतलन इस तरह के फल गैर-ऑर्गेनिक फल होते हैं।

आपको यह भी जान लेना चाहिए की जिस भी फल में लगे स्टिकर की संख्या केवल चार ही है (जैसे 4026) तो इस तरह के फलो को कीटनाशक और रसायनों द्वारा उगाया जाता है ये फल ऑर्गेनिक फलों की तुलना में सस्ते होते है, जिनका सेवन आपके लिए हानिकारक भी हो सकता है। ऐसे में इस तरह के फलों को पूरी सावधानी के साथ ही सेवन करना चाहिए।

ऐसे में यह बेहतर होगा की आप आगे से कोई भी फल खरीदते समय उस पर लगे स्टिकर को ध्यान से देखें और जहां तक संभव हो चार अंकों वाले स्टिकर लगे फल को कभी भी ना खरीदें क्योंकी इसके सेवन से आपको काफी गंभीर नुकसान भी हो सकता है, बेहतर होगा की आप अपने खाने पीने में जैविक तरीके से उगाये गए फलों को ही शामिल करें।

source : newstrend

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *