हल्दी से होते हैं ये 7 लाजवाब फायदे, नंबर 4 तो है हर दूसरे शख्स की जरूरत - HEALTH IS WEALTH
हल्दी से होते हैं ये 7 लाजवाब फायदे, नंबर 4 तो है हर दूसरे शख्स की जरूरत

हल्दी से होते हैं ये 7 लाजवाब फायदे, नंबर 4 तो है हर दूसरे शख्स की जरूरत

हल्दी एक आयुर्वेदिक औषधि के रूप में भी जाना जाता है। हल्दी घरों में खाने के रूप में प्रयोग तो किया ही जाता है साथ ही ये कई शारीरिक समस्याओं के लिए दवा का भी काम करता है। हल्दी स्वास्थय के लिए बहुत ही लाभदायक और कई गंभीर बीमारियों से बचाव करने में सहायक है। हल्दी का उल्लेख आयुर्वेद में भी किया गया है। और इसके कई लाभ व गुण बताए गए हैं।

हल्दी में एंटी एलर्जिक, एंटी बैक्टिरियल और एंटी फंगल गुण पाए जाते हैं। हल्दी का तेल हल्दी के मूल जड़ से बनाया जाता है। हल्दी के तेल के बहुत से स्वास्थय लाभ हैं और कई बीमारियों में इसका प्रयोग आयुर्वेदिक उपचार के तौर पर किया जाता है। आज हम आपको बताएंगे कि हल्दी के तेल के कौन कौन से स्वास्थय  लाभ हैं, और इसके क्या क्या फायदे हैं।

  • रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाए– हमारे शरीर को कई तरह के संक्रमण से रोगों का खतरा बना रहता है। हल्दी के तेल में पाया जाने वाला एंटी बैक्टिरियल और एंटी फंगल गुण शरीर को संक्रमण से बचाते हैं। और कई तरह के रोगों से सुरक्षा प्रदान करते हैं। हल्दी के तेल के सेवन से इम्यून सिस्टम मजबूत होता है।
  • जोड़ों के दर्द और सूजन कम करे- हल्दी के तेल में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं, जो शरीर में जोड़ो के दर्द, मांसपेशियों के दर्द को कम करने में सहायक होते हैं।
  • दांत के दर्द में सहायक– हल्दी तेल में एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं। अगर आपको दांतों से जुड़ी कोई समस्या है तो हर रोज एक या दो बूंद हल्दी के तेल को ब्रश में डालकर दांतों और मसूड़ों को साफ करें इससे दांत दर्द में राहत मिलेगी।
  • बालों में डैंड्रफ से छुटकारा– अगर आपको बालों में डैंड्रफ या खुजली जैसी समस्या है तो हर रोज हेयर आइल में थोड़ा सा हल्दी तेल डालकर सिर में मसाज करने से डैंड्रफ दूर होगा। और खुजली जैसी समस्या से भी राहत मिलेगी।
  • मेटाबॉलिज्म बूस्ट– मेटाबॉलिज्म एक प्रक्रिया है जो शरीर में भोजन को उर्जा में परिवर्तित करता है। मनुष्य को श्वास लेने, भोजन पचाने, रक्त प्रवाह, हार्मोन संतुलन के लिए उर्जा की आवश्यकता होती है । यह उर्जा उसे मेटॉबालिज्म की प्रक्रिया से ही मिलती है। आपकी चयापचय दर जितनी अधिक होगी आप उतना ही अधिक उर्जावान रहेंगे और सक्रिय रूप से कार्य करने में सक्षम भी। मेटाबॉलिज्म शरीर की एक आवश्यक क्रिया है। हल्दी के तेल से बने भोजन का सेवन करेंगे तो चयापचय की दर बढ़ेगी मतलब मेटाबॉलिज्म बूस्ट होगी।
  • ब्लड सर्कुलेशन सही करे– शरीर में ठीक तरह से ब्लड सर्कुलेशन होना अनिवार्य है। अगर ठीक तरीके से ब्लड सर्कुलेशन नहीं हो पाता है तो कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। हालांकि कई लोग इसे नजरअंदाज करते हैं लेकिन इसके गंभीर परिणाम बाद में बड़ी बीमारियों के रूप में भुगतने पड़ते हैं। रक्त् संचार के धीमे हो जाने से शरीर में असामान्य सूजन दिखाई दे सकती है। इसके अलावा लो और हाई ब्लड प्रेशर की समस्या भी आ सकती है।  अगर आप हल्दी के तेल का सेवन अपने भोजन में करेंगे तो इस प्रकार की समस्याओं से बचा जा सकता है और शरीर में रक्त संचरण सही गति से होगा। हल्दी के तेल में कई प्रकार के प्राकृतिक औषधिय गुण पाए जाते हैं जो शरीर में ब्लड सर्कुलेशन को संतुलित करते हैं।
  • तनाव से राहत दे– अगर आप कभी तनाव महसूस करते हैं तो अपने दोनों हाथों में हल्दी का तेल लगाएं और उसे रगड़कर अपने चेहरे पर लगा लें। इससे आपको काफी सुकुन महसूस होगा।

source : newstrend

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *