30 हजार रुपये किलो बिक रही इस सब्जी में है गुणों का खजाना, PM मोदी खुद करते हैं इसका सेवन - HEALTH IS WEALTH
30 हजार रुपये किलो बिक रही इस सब्जी में है गुणों का खजाना, PM मोदी खुद करते हैं इसका सेवन

30 हजार रुपये किलो बिक रही इस सब्जी में है गुणों का खजाना, PM मोदी खुद करते हैं इसका सेवन

हर इंसान अपनी सेहत के अनुरूप खाना खाते हैं और हर किसी को उनके मनपसंद चीजों को खाने का पूरा अधिकार होता है। मगर बहुत सी चीजें खाने में महंगी होती है तो लोग इनके बारे में सोचते भी नहीं है। हम आपको एक ऐसी सब्जी के बारे में बताएंगे जिसमें गुणों का खजाना है लेकिन इसकी कीमत सुनकर आपके होश उड़ गए होंगे। 30 हजार रुपये किलो बिक रही इस सब्जी में है गुणों का खजाना, आखिर क्या है इस सब्जी का नाम?

30 हजार रुपये किलो बिक रही इस सब्जी में है गुणों का खजाना

गुच्छी औषधीय गुणों से भरपूर बहुत सी चीजें होती है और इस औषधीय पौधे का नाम मार्कुला एस्क्यूपलेटा है। ये बहुत ही स्पंज होता है और आम भाषा में लोग इसे मशरूम के नाम से जानते हैं। यह गुच्छी स्वाद में लाजवाब होता है और इसमें कई औषधीय गुण भी होते हैं. स्थानीय भाषा में इसे छतरी, टटमोर या डुंघरू कहते हैं और गुच्छी चंबा, कुल्लू, शिमला, मनाली सहित कई प्रदेशों के जिलों में ये पाया जाता है।

आज के दौर में बहुत सारे लोग इसके गुणों से अनजान हैं और इसका पूरा फायदा नहीं उठा पाते हैं। गुच्छी ऊंचे पहाड़ी इलाके के घने जंगलों में कुदरती रूप से दिखाई देते हैं और जंगलों के अंधाधुन कटाव से मशमूम की मात्रा कम होती जा रही जिसकी वजह से ये बहुत महंगा बाजार में मिलता है। इसका सेवन सब्जी के रूप में किया जाता है और इसका सेवन सब्जी के रूप में करते हैं जो हिमाचल के बड़े होटलों में सप्लाई भी होता है।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे तब उनसे कुछ पत्रकारों ने पूछा था कि उनकी एऩर्जी का राज क्या है? इसपर उन्होंने बताया था कि वे हिमाचल प्रदेश का मशरूम खाते हैं जो उन्हें ताजगी से भर देता है। दरअसल पीएम मोदी कई साल तक एक पार्टी कार्यकर्ता के रूप में हिमाचल प्रदेश में रहे हैं और यहां पर उनके कई मित्र आज भी हैं।

मोदी जी को मशरूम बहुत पसंद हैं क्योंकि पहाड़ों पर शाकाहारी लोगों को प्रोटीन और गर्म तासीर की चीजों की जरूरत होती है और ये सबसे अच्छा साधन है। इसमें बी कॉम्पलेक्स विटामिन, विटामिन डी और कुछ जरूरी एमीनो एसिड पाए जाते हैं जो दिल के दौरे के खतरे को बहुत कम कर देता है। इसकी मांग ना सिर्फ भारत में बल्कि यूरप, अमेरिका, फ्रांस, इटली और स्वीट्जरलैंड जैसे देशों में होती है। इतनी मांग के कारण ही मशरूप 30 हजार रुपये प्रति किलो मिलता है ये सब्जी सबसे ज्यादा हिमाचल, कश्मीर और कई ऊंचे पर्वतीय इलाकों में होती है।

इस तरह होता है गुच्छी यानी मशरूम से लाभ

  • औषधीय गुणों से भरपूर गुच्छी के नियमित सेवन से दिल की बीमारियां नहीं हो पाती हैं।
  • गुच्छी के सेवन से कई घातक बीमारियां खत्म होती हैं।
  • विटामिन बी, सी, डी व के की प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।
  • मोटापा, सर्दी, जुकाम से लडऩे की क्षमता बढ़ाने में भी मशरूम सहायक होता है।
  • प्रोस्टेट व स्तन कैंसर की आशंका को कम करना आसान होता है।
  • ट्यूमर बनने से भी ये सब्दी रोकती है।
  • कीमोथेरेपी से आने वाली कमजारी दूर करने में सहायक होती है।
  • सूजन दूर करने में लाभ होता है।

source : newstrend

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *