ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के साथ ही लीवर को भी स्वस्थ रखता है चुकंदर - HEALTH IS WEALTH
ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के साथ ही लीवर को भी स्वस्थ रखता है चुकंदर

ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने के साथ ही लीवर को भी स्वस्थ रखता है चुकंदर

शाकाहारी लोग चुकंदर को “रेड रानी” के नाम से भी जानते हैं। इसकी वजह यह है कि चुकंदर न सिर्फ दिखने में लाल होता है, बल्कि इसे खाने से खून की कमी से भी निदान मिलता है। आप यकीन नहीं करेंगी, लेकिन यह सच है कि अपनी फिटनेस के लिए लोकप्रिय मलाइका अरोड़ा ने हाल ही में बातचीत में यह बात स्वीकारी है कि वे अपने भोजन में चुकंदर का इस्तेमाल जरूर करती हैं। दरअसल यह पौष्टिक तो होता ही है, इसे खाने से शरीर में खून की कमी भी नहीं होती है। कभी- कभी मलाइका सुबह- सुबह चुकंदर को टुकड़ों में काट कर चेहरे पर मल लेती हैं, इससे उनके चेहरे पर अलग तरह की ताजगी रहती है। 

दरअसल, चुकंदर जीनस बीटा वल्गेरिस की किस्मों में से एक है और यह जड़ वाला पौधा होता है, जो जमीन के अंदर उगाया जाता है। इसका सेवन सलाद, जूस और सूप बनाने में किया जाता है। कई लोग इसका सेवन पुलाव बनाने में भी करते हैं। चुकंदर स्वास्थ्य के साथ- साथ सौंदर्य का भी बेहतरीन स्रोत है। अंग्रेजी में जहां इसे बीटरूट कहते हैं, वहीं स्पैनिश में ला रेमोलाचा और चीनी भाषा में हांग के टू कहते हैं। चुकंदर इतना गुणकारी है कि इसे रोजाना अपनी डाइट में शामिल करना ही चाहिए। तो आइये, आज हम चुकंदर से जुड़े सारे महत्वपूर्ण पहलुओं से रूबरू कराते हैं।

चुकंदर के पोषक तत्व

चुकंदर में कई जरूरी पोषक तत्व मौजूद होते हैं। इसमें कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, विभिन्न तरह के विटामिन, मिनरल्स, फाइटो न्यूट्रिएंट्स भी होते हैं, जो शरीर के लिए आवश्यक हैं। चुकंदर में एंटी ऑक्सिडेंट, विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, आयरन और पोटैशियम की मात्रा अधिक होती है। चुकंदर स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले बायोएक्टिव्स जैसे पॉलीफेनॉल्स, फ्लेवोनॉइड्स और एंथोकायनिन का भी बड़ा स्रोत है।

चुकंदर के स्वास्थ्य लाभ

चुकंदर में कई ऐसे पौष्टिक तत्व हैं, जिनकी वजह से कई तरह की बीमारियों से तो छुटकारा मिलता ही है, साथ ही पोषक तत्वों की पूर्ति भी होती है।

मधुमेह

मधुमेह की बीमारी से परेशान कई लोगों का मानना है कि उन्हें चुकंदर का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि वह ज़मीन के नीचे उगाया जाता है। लेकिन हकीकत यह है कि चुकंदर खाने से मुधमेह पर नियंत्रण हासिल किया जा सकता है। चूंकि यह एक गुणकारी खाद्य पदार्थ है। रोजाना इसका सेवन करने से रक्त शर्करा को संतुलित करने में मदद मिलती है। साथ ही यह फाइटोकेमिकल्स और स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले बायोएक्टिव्स जैसे पॉलीफेनॉल्स, फ्लेवोनॉइड्स और एंथोकायनिन का भी बड़ा स्रोत है। ये सभी तत्व मधुमेह के स्तर को कम करने का काम करते हैं।

हृदय लाभ

आपको यह जान कर हैरानी होगी, मगर सच यही है कि चुकंदर में मौजूद नाइट्रेट तत्व रक्तचाप को सामान्य कर हृदय रोगों से बचाते हैं। यह आपको मायोकार्डियल संक्रमण से भी बचाता है। चुकंदर में मौजूद एंटी ऑक्सिडेंट गुण स्ट्रेस और हृदय रोग से जुड़े इंफ्लेमेशन को कम करने का भी काम करते हैं। इसमें मौजूद जरूरी विटामिन्स और मिनरल्स हृदय को स्वस्थ रखते हैं। दिल के रोगों से बचने के लिए आप चुकंदर का सेवन हर दिन कर सकते हैं।

हाई ब्लड प्रेशर

हाई ब्लड प्रेशर शरीर के कई अंगों को खराब करता है। इसलिए डॉक्टर इससे ग्रसित रोगियों को सलाह देते हैं कि उन्हें रोजाना प्राकृतिक सलाद और साग- सब्जियों का सेवन अधिक करना चाहिए। डॉक्टर्स का मानना है कि चुकंदर में मौजूद नाइट्रेट उच्च रक्तचाप को कम करने का काम करता है।

कैंसर

शोधकर्ताओं का यह भी मानना है कि चुकंदर फेफड़ों और स्किन कैंसर को शरीर में विकसित होने से रोकता है। इसीलिए डॉक्टर्स गाजर और चुकंदर के जूस को मिला कर पीने की सलाह देते हैं। उनका मानना है कि इससे ब्लड कैंसर खत्म होने के भी चांसेज होते हैं।

एनीमिया

एनीमिया में आपको खून की कमी होने लगती है। इसमें हीमोग्लोबिन कम हो जाता है। इसकी वजह से आपको सांस लेने में तकलीफ, चक्कर आना या सिरदर्द जैसी समस्याएं होने लगती हैं। चुकंदर में भरपूर मात्रा में आयरन होता है, जो शरीर में आयरन की पूर्ति करने में सहायक होता है। इसलिए बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक, सभी को चुकंदर का सेवन रोजाना करना चाहिए।

पाचन क्रिया

चुकंदर में पाचन क्रिया को मजबूत बनाने के भी काफी गुण होते हैं। चुकंदर में ग्लूटामाइन नामक एमिनो एसिड होता है, जो भोजन को पचाने में मदद करता है। साथ ही इम्यून सिस्टम को भी ठीक रखता है। यही नहीं, इसके सेवन से लीवर को भी काफी फायदे होते हैं।

ऊर्जावान बनाने में सहायक

चुकंदर के सेवन से शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं और ऊर्जा के विकास में मदद मिलती है। यह आंतों में कैंडिडा को पनपने से रोकता है, जो ऊर्जा के स्तर को कम करने का काम करता है। शरीर में ऊर्जा के लिए लीवर का सही काम करना बेहद जरूरी है। ऐसे में चुकंदर एक बेहतरीन स्रोत है, चूंकि इसमें फ्लेवोनॉइड, सल्फर और बीटा कैरोटीन भी होते हैं, जो लीवर को सुचारु रूप से चलाने में खूब मदद करते हैं।

हड्डियां मजबूत, दांत मजबूत

हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए शरीर में कैल्शियम का होना बहुत जरूरी है और चुकंदर में कैल्शियम की प्रचुर मात्रा होती है। रोजाना इसके सेवन से न सिर्फ हड्डियां मजबूत होती हैं, बल्कि आपके दांतों की मजबूती भी बढ़ती है।

कोलेस्ट्रॉल

कम लोगों को ही इसकी जानकारी है कि चुकंदर में वे सारे तत्व मौजूद हैं, जिनकी वजह से कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित किया जा सकता है। चुकंदर में कैलोरी की मात्रा कम होती है और यही वजह है कि इसमें शून्य कोलेस्ट्रॉल होता है।

गर्भावस्था

चुकंदर की खासियत होती है कि इसमें फोलेट के साथ- साथ मैंग्नीज, पोटैशियम, विटामिन- सी, फॉस्फोरस, कॉपर और आयरन भी प्रचुर मात्रा में होता है। ये सारे तत्व गर्भावस्था में हीमोग्लोबिन का स्तर बनाये रखने और मां व बच्चे को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। चुकंदर फॉलिक एसिड का भी बड़ा स्रोत है, जो बच्चे में न्यूरल ट्यूब दोष को रोकने में मदद करता है।

वजन घटाने में सहायक

चुकंदर में खनिज और विटामिन भरपूर मात्रा में होता है। चुकंदर के रस में फाइबर की मात्रा अधिक होती है और यह स्पष्ट है कि फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ खाने से वजन कम होता है। इसलिए कई बार डायटीशियन की यही राय होती है कि पेट को भरने के लिए इसका भरपूर सेवन करें।

लीवर को रखें स्वस्थ

लीवर से जुड़ी समस्याओं से बचने के लिए रोजाना चुकंदर का सेवन किया जाना चाहिए। इसमें मौजूद हाई फैट से लीवर को होने वाली क्षति को कम करने में मदद मिलती है। इसमें फ्लेवोनॉयड्स भी पाए जाते हैं, जो मेटाबॉलिज्म को बरकरार रखने में सहायक होते हैं।

आंखों के लिए

डॉक्टर्स का मानना है कि बुढ़ापे में अपनी आंखों को तमाम बीमारियों से बचाने के लिए चुकंदर का रोज़ाना सेवन करना चाहिए। इसमें मौजूद विटामिन सी के सेवन से मोतियाबिंद जैसी बीमारी से पूरी तरह से छुटकारा मिलता है। आंखों के लिए हर दिन जूस या सलाद के रूप में इसका सेवन करना चाहिए।

सौंदर्य संबंधी फायदे

चुकंदर खाने से आपको न सिर्फ स्वास्थ्य लाभ मिलते हैं, बल्कि यह कई रूपों में आपकी खूबसूरती में भी निखार लाता है। जी हां, इसकी सबसे बड़ी खासियत है कि यह एंटी ऑक्सिडेंट का बेहतरीन स्रोत है, जिसकी वजह से यह त्वचा के लिए एंटी- एजिंग एजेंट के रूप में काम करता है। इसमें प्रचुर मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है, जो त्वचा को झुर्रियों और रूखेपन से बचाने में मदद करता है। साथ ही चुकंदर त्वचा को नर्म और कोमल बनाये रखने में भी काफी सहायक होता है क्योंकि इसका रस पीने से आपकी त्वचा हाइड्रेट रहती है और यह मृत कोशिकाओं को शीर्ष परत से हटाने में मददगार साबित होता है।

गुड फूड डाइट

सभी डाइटीशियंस डाइट में चुकंदर शामिल करने की सलाह देते हैं। इसे खाने से चेहरे की लालिमा बरकरार रहती है।

बालों के लिए

चुकंदर में एंटी ऑक्सिडेंट, विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, आयरन और पोटैशियम की मात्रा अधिक होती है। यही वजह है कि बालों की सेहत के लिए इससे बेहतर विकल्प और कुछ नहीं होता है। चुकंदर के सेवन का सबसे बड़ा फायदा यह भी है कि इससे बाल झड़ने और स्कैल्प में खुजली जैसी परेशानियों से निजात मिलती है। इसकी खासियत है इसमें कैरोटिनॉइड नामक तत्व होता है, जो कि बालों की गुणवत्ता और उसकी चमक को बरकरार रखने में सहायक होता है।

चुकंदर को अपने भोजन में कैसे करें शामिल

चुकंदर की सबसे बड़ी खूबी यही है कि इसे आप हर दिन आसानी से अपने खाने में शामिल कर सकती हैं। हर दिन आप सलाद के रूप में इसका सेवन तो कर ही सकते हैं, साथ ही अन्य सब्जियों और फ्रूट के साथ इसके जूस के सेवन से कई बीमारियों से छुटकारा मिलता है। यही नहीं, चुकंदर का सूप भी लोग बड़े स्वाद से पीते हैं। खासतौर से जो लोग डाइट पर हैं, वे रात में इसका सूप पीकर अपनी भूख को शांत कर सकते हैं। इंटरनेट पर इसकी कई रेसिपी भी मौजूद हैं। अगर आपको चुकंदर बहुत पसंद न हो तो आप इसे हल्का भून कर बाकी सब्जियों के साथ मिला कर भी हेल्दी सलाद बना कर खा सकती हैं।  

चुकंदर के सेवन को लेकर किन बातों का रखें ध्यान

यह सच है कि चुकंदर में सेहत का भंडार छिपा हुआ है लेकिन फिर भी इसके सेवन से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है।

चूंकि चुकंदर में कैल्शियम और विटामिन सी की मात्रा ज्यादा होती है इसलिए इसका अत्यधिक सेवन करने से किडनी स्टोन की समस्या हो सकती है। ऐसे में डॉक्टर से इसके सेवन को लेकर सारे निर्देश ले लें। चुकंदर की वजह से बीटूरिया नामक परेशानी भी होती है, जिसमें आपके मूत्र का रंग लाल हो जाता है। ऐसी परिस्थिति में भी फौरन डॉक्टर से सलाह लें। अगर आपको चकत्ते से जुड़ी परेशानी है, तब भी चुकंदर का सेवन वर्जित करें। चुकंदर खाने से कई बार कलर स्टूल की भी परेशानी होती है। कुछ लोगों को पेट दर्द की परेशानी भी हो जाती है। अगर आपको ऐसी कोई परेशानी है तो चुकंदर के सेवन में लापरवाही न करें।

जानिये चुकंदर से जुड़े स्वास्थ्य लाभ को लेकर पूछे गये महत्वपूर्ण सवाल – FAQ’s

1. सवाल : क्या डायबिटीज से पीड़ित मरीज को चुकंदर का सेवन करना चाहिए?

जवाब : देखिये, यह बहुत जरूरी है कि आप एक बार अपने डॉक्टर से सलाह- मशविरा कर लें। लेकिन हकीकत यह है कि चुकंदर खाने से मुधमेह पर नियंत्रण हासिल किया जा सकता है। यह एक गुणकारी खाद्य पदार्थ है। इसका रोजाना सेवन करने से रक्त शर्करा संतुलित होने में मदद मिलती है। 

2. सवाल : चुकंदर के सेवन से किडनी स्टोन की परेशानी होती है। क्या यह सच है?

जवाब : यह मिथ है। किडनी स्टोन होने के अन्य कारण भी होते हैं। ऐसा नहीं है कि आपने चुकंदर खाया, इसलिए आपको किडनी स्टोन हो गया। लेकिन अगर आपको किडनी स्टोन की परेशानी है तो इसके सेवन से आपको परहेज करना चाहिए। हालांकि, इसके लिए डॉक्टर से सलाह लेना बेहतर होगा। चुकंदर में कैल्शियम और विटामिन सी की मात्रा ज्यादा होती है इसलिए इसका अत्यधिक सेवन करने से किडनी स्टोन की समस्या हो सकती है।

3. सवाल : क्या गर्भावस्था में चुकंदर का सेवन किया जा सकता है?

जवाब : जी हां, बिल्कुल। लेकिन एक बार अपनी डॉक्टर और डाइटीशियन से सलाह ज़रूर लें। वैसे इसमें फोलेट के साथ- साथ मैंग्नीज, पोटैशियम, विटामिन- सी, फॉस्फोरस, कॉपर और आयरन भी प्रचुर मात्रा में होता है। ये सारे तत्व गर्भावस्था में हीमोग्लोबिन को संतुलित रखने और मां व बच्चे को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं।

4. सवाल : क्या चुकंदर का सेवन सुबह खाली पेट में किया जा सकता है?

जवाब : जी हां, बिल्कुल किया जा सकता है। खासतौर से अगर इसके जूस का सेवन सुबह- सुबह किया जाये तो हेल्थ के लिए यह काफी अच्छा होता है। गाजर, खीरा और चुकंदर को साथ में मिला कर जूस बनाएं और इसका सेवन करें।

5. सवाल : क्या चुकंदर बालों के लिए स्वास्थ्यवर्धक है?

जवाब : जी हां, चुकंदर के सेवन से बालों में चमक आती है। चुकंदर में एंटी ऑक्सिडेंट, विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, आयरन और पोटैशियम की मात्रा अधिक होती है।  यही वजह है कि बालों की सेहत के लिए इससे बेहतर विकल्प और कुछ नहीं होता है। यह बालों को घना बनाने के साथ ही स्कैल्प को भी तंदुरुस्त रखता है।

source : onlymyhealth

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *