पुरुषों को कामयाब बनाती हैं उनकी ये 5 आदतें, लोग होते हैं प्रभावित - HEALTH IS WEALTH
पुरुषों को कामयाब बनाती हैं उनकी ये 5 आदतें, लोग होते हैं प्रभावित

पुरुषों को कामयाब बनाती हैं उनकी ये 5 आदतें, लोग होते हैं प्रभावित

अगर आप सही मायने में स्मार्ट दिखना चाहते हैं
केवल स्टाइलिश आउटफिट्स पहनना ही काफी नहीं होता
बॉडी लैग्वेज पर ध्यान देते हुए उसे दुरुस्त करना भी बहुत ज़रूरी है

अगर आप सही मायने में स्मार्ट दिखना चाहते हैं तो इसके लिए केवल स्टाइलिश आउटफिट्स पहनना ही काफी नहीं होता बल्कि सचेत ढंग से अपनी बॉडी लैग्वेज पर ध्यान देते हुए उसे दुरुस्त करना भी बहुत ज़रूरी है क्योंकि बातचीत के दौरान व्यक्ति के हाव-भाव बोले गए शब्दों से कहीं ज्य़ादा प्रभावशाली होते हैं। आजकल प्राफेशनल लाइफ में कामयाबी के लिए कार्य-कुशलता के अलावा सॉफ्ट स्किल्स यानी व्यक्ति के व्यवहार और बोलने-चलने के अंदाज़ को भी काफी अहमियत दी जाती है। ऐसे में युवाओं के लिए अपनी बॉडी लैंग्वेज पर ध्यान देना और भी ज़रूरी हो जाता है।

पहचानें अपने एक्प्रेशंस

कोई भी व्यक्ति परफेक्ट नहीं होता, इसलिए इस बात को लेकर खुद को गिल्टी फील न करें कि आपकी बॉडी लैंग्वेज सही नहीं है। अगर आप इसे दुरुस्त करना चाहते हैं तो उससे पहले शीशे के सामने खड़े होकर कुछ सामान्य से वाक्य बोलते हुए अपने चेहरे की भाव-भंगिमा और शरीर के अंदाज़ पर गौर करें अगर कुछ असामान्य लगे तो उसे सहजता से धीरे-धीरे दूर करने की कोशिश करें पर इसके बारे में यह सोच चिंतित न हों कि मेरा हाव-भाव ठीक नहीं है।

सहजता और ख़ुश रहें

हर इंसान के व्यक्तित्व का अपना खास अंदाज होता है। मसलन, कुछ थोड़ा जोर से बोलते हैं तो कुछ धीमी आवाज़ में बात करते हैं। दोनों में से कोई भी गलत नहीं हैं और उनकी यह आदत उनकी पर्सनैलिटी के बेसिक नेचर को दर्शाती है। इसे पूरी तरह बदलना भी संभव नहीं है। पहली तरह के लोगों को यह ध्यान रखना चाहिए कि उनकी आवाज दूसरों को कर्कश न लगे, उसी तरह धीरे बोलने वाले लोगों को भी सचेत ढंग से कोशिश करनी चाहिए कि उनकी बातें दूसरों को स्पष्ट ढंग से सुनाई दें।

ज़रूरी है आई कॉन्टैक्ट

दूसरों से बातचीत करते समय हमेशा आपकी नज़र हमेशा सामने उस व्यक्ति के चेहरे पर होनी चाहिए। बातचीत के दौरान नजरें नीची करना या इधर-उधर देखना आत्मविश्वास की कमी दर्शाता है। इससे सामने वाले तक यह मेसेज जाता है कि दूसरा व्यक्ति झूठ बोल रहा है या इस बातचीत में उसे कोई दिलचस्पी नहीं है।

हैंड शेक में हो गर्मजोशी

प्रोफेशनल वल्र्ड में हाथ मिलाना सोशल एटिकेट का जरूरी हिस्सा है पर कुछ लोग पर ध्यान नहीं देते और बड़े ढीले और अनमने ढंग से दूसरे व्यक्ति के हाथ पकड़ते हैं। इससे आत्मविश्वास की कमी जाहिर होती है। इसलिए हाथ मिलाते समय इस बात का ध्यान रखें कि इससे आपकी पॉजि़टिव एनर्जी दूसरे व्यक्ति तक पहुंचे। कुछ बहुत देर तक दूसरों का हाथ पकड़े रहते हैं, ऐसा करना भी अनुचित है। ऐसा करने वाले अनप्रोफेशनल और ‘चिपकू समझे जाते हैं।

यह भी न भूलें

दूसरों के सामने बहुत ज्यादा तन कर या झुक कर न बैठें, इन दोनों ही स्थितियों आप असुरक्षित नज़र आएंगे।

अगर किसी की बातों से सहमत हैं तो सहमति प्रकट करने के लिए एक-दो बार सिर हिलाना काफी होता है, बार-बार ऐसा करने वाले लोग चापलूस नज़र आते हैं।

बातचीत के दौरान पैर हिलाना, उंगलियां चटकाना, उबासी लेना, अपने बाल या कपड़े ठीक करना जैसी आदतें अच्छी नहीं मानी जातीं।

बातचीत के दौरान मुस्कराना अच्छी बात है पर यह बहुत ज्यादा भी नहीं होना चाहिए।

हमारे साथ जुड़े रहने के लिए हमारे पेज Ayurveda And Yoga For Fitness लाइक जरूर करें।

दोस्तों, उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा. पसंद आने पर लाइक और शेयर करना ना भूलें.

source : onlymyhealth

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *